CAA Hinsa karane vaalon se hui vasooli ka paisa sarkar karegi vapas: सीएए हिंसा करने वालों से हुई वसूली का पैसा सरकार करेगी वापसी

0
17
सुमित शर्मा, कानपुर: यूपी में नागरिकता संसोधन कानून (CAA) के खिलाफ जमकर हिंसा भड़की थी। सीएए के विरोध में हिंसा हुई थी। प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई थी। के बाबूपुरवा और यतीम खाने में प्रदर्शनकारियों ने सार्वजनिक संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचाया था। पुलिस ने 48 प्रदर्शनकारियों को चिह्नित किया था। से 33 प्रदर्शनकारियों ने जुर्माना जमा किया था। प्रशासन ने प्रदर्शनकारियों से 03.66 लाख की जुर्माने की राशि वसूली थी। के नुकसान की रिकवरी नोटिस को निरस्त कर दिया गया है।

सीएए हिंसा में प्रदर्शकारियों से वसूला गया जुर्माना सरकार वापस करेगी। जिला प्रशासन ने आदेश जारी कर जुर्माना राशि घर-घर पहुंचाने का आदेश दिया है। के घर पर चेक पहुंचाएंगे। चेक पहुंचना भी शुरू हो जाएगा। के अधिवक्ता की तरफ से ब्याज समेत जुर्माने का पैसा देने की भी मांग की गई थी।

48 में से 33 आरोपियों ने जमा किए थे पैसे
एनआरसी के विरोध में प्रदर्शकारियों ने जमकर उत्पात मचाया था। शहर के इलाकों में हिंसा भड़की थी, जिसमें लाखों की सावर्जनिक संपत्ति का नुकसान हुआ था। इस नुकसान की भरपाई आरोपियों से वसूलने का आदेश दिया था। डीएम के नाम पर बैंकड्राफ्ट बनवाकर 33 आरोपियों से जुर्माना वसूला गया था। बेकनगंज और बाबूपुरवा के 48 आरोपियों को एडीएम सिटी की कोर्ट से रिकवरी नोटिस जारी किया गया था। बाद 33 लोगों ने जुर्माना राशि जमा की थी। बेकनगंज से 21 लोगों ने 02.83 लाख और बाबूपुरवा से 12 लोगों ने प्रतिव्यक्ति 6970 रुपए जमा किए थे। के खाते में 03.66 लाख रुपये जमा हुए थे।

ने रिकवरी को गलत करार दिया था। कोर्ट के आदेश के बाद रिकवरी नोटिस को निरस्त कर दिया गया था। ने जुर्माना राशि वापस करने का आदेश जारी कर दिया है। के माध्यम से पैसा वापस करने के बाद माननीय सुप्रीम कोर्ट जानकारी मुहैया कराई जाएगी।

था मामला
कानपुर में बीते 20 दिसंबर को बाबूपुरवा के ईदगाह में नागरिक संशोधन बिल का विरोध कर रहे लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया था। इसके बाद चार पहिया और दो पहिया वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। में तीन उपद्रवियों की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। इसके बाद 21 दिसंबर को परेड के यतीमखाना में भी हिंसा भड़क गई थी। उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव और देसी बमों और पेट्रोल बम से हमला किया था। इसके साथ ही यतीमखाना चौकी पर खड़े वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। में एक सिपाही के कंधे में गोली लगी थी और एक दारोगा का सिर फट गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here